loading...

मैसी को चोदा बना कॉल बॉय

Chut chudai ki kahani, antarvasna hindi sex story desi kahani मेरा नाम रो-हित है, मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ, मेरी हाइट 6 फीट है ओर मैं एक सुन्दर लड़का हूँ.
यह कहानी मेरी एक कि कैसे मेरी मौसी ने मुझे कॉल बॉय बना दिया।.

मेरी मौसी का नाम सोनिया है, उनकी उमर 29 साल, वो देखने में बहुत सुन्दर और सेक्सी हैं। उनके चूतड़ ऊपर की तरफ उठे हुए हैं जिन्हें देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाये, उनका फिगर 36 32 38 है।

मौसी दिल्ली में रहती हैं, उनका 5 साल का एक लड़का है। मेरे मौसाजी एक फ़ौजी हैं, वे घर से बाहर ही रहते हैं।

12वीं के पेपर देने के बाद मैं फ्री हो गया, मैं घर पर बोर हो रहा था इसलिए मौसी के घर चला गया क्योंकि वे भी अकेली रहती थी।
मुझे क्या पता था कि वहाँ मुझे चूत मिलेगी और मेरी जिंदगी बदल जाएगी।

मैं उनके घर पहुँचा, मुझे देख कर वो बहुत खुश हो गई, मुझे गले से लगा लिया जिससे उनकी चूचियाँ मेरी छाती से जुड़ गई। मुझे मजा आ गया।

अंदर जाने के बाद वो मेरे लिए पानी लेकर आई। वो जैसे ही पानी देने के लिए नीचे झुकी, मुझे उनकी गोरी गोरी चूचियों के दर्शन हो गए जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया।
वो बोली- क्या हुआ?
मैंने कहा- कुछ नहीं।

उन्होंने मेरा लंड देख लिया था जो पैंट से साफ देख रहा था।
मौसी बोली- तुम थक गए होगे, कपड़े बदल लो और थोड़ा आराम कर लो।
फिर मैं सो गया।

जब मैं उठा, तब तक मौसी का लड़का स्कूल से आ चुका था, मैं कुछ देर उसके साथ खेलने लगा। तब तक शाम हो चुकी थी, मौसी किचन में थी।
मैं किचन में पानी लेने गया तो मौसी खाना बना रही थी, उनकी गांड ऊपर की तरफ उठी हुए दिख रही थी जिसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और मैं उनको देखता रहा।

उन्होंने मेरी तरफ देखा और बोली- क्या चाहिये?
मैंने अपना हाथ उनकी गांड की तरफ किया।
वो बोली- क्या?
मैंने कहा- पानी चाहिये।
उन्होंने मुझे पानी दिया और मैं वहाँ से आ गया।

रात को खाना खाने के बाद मैं ओर मौसी टी वी देख रहे थे, उनका लड़का सो चुका था।
मौसी बोली- मुझे गर्मी लग रही है, मैं नहा कर आती हूँ।

मैंने सोचा यह मौका है, मुझे मौसी के नंगे बदन के दर्शन हो सकते हैं।
मौसी बाथरूम में गई, मैंने दरवाजे को देखा, वहाँ से कोई भी जगह नहीं थी लेकिन दरवाजे के नीचे थोड़ी जगह थी।
मैं जमीन पर लेट गया और वहाँ से बाथरूम में झांकने लगा लेकिन मुझे कुछ भी नहीं दिख सका।

लेकिन अगले ही पल अचानक दरवाजा खुल गया, मौसी बाथरूम से बाहर आ गई।
मुझे जमीन पर ऐसे देख कर वो बोली- क्या कर रहे हो?
मैं डर गया, मेरी चोरी पकड़ी गई थी।

loading...

मौसी बोली- बताओ क्या कर रहे थे?
मैंने कहा- मेरे पैसे गिर गए थे, उनको ढूंढ रहा था।
वो बोली- झूठ मत बोलो, सच सच बताओ।
उस समय में बहुत डर गया।
वो बोली- अगर तुम मुझे सच नहीं बताओगे तो मैं तुम्हारी मम्मी से शिकायत कर दूँगी।

मैं रोने लगा, मैंने कहा- मौसी मुझसे गलती हो गई, मुझे माफ कर दो।
तो वो बोली- तो बताओ क्या देख रहे थे?
मैंने कहा- आपको देख रहा था।
वो बोली- फिर मुझे देखा क्या?
मैंने कहा- नहीं।
फिर वो बोली- मुझे देखना चाहोगे?
मैंने कहा- हाँ!

फिर वो मुझे अपने बेडरुम में ले गई, उन्होंने कहा- रोहित, मैं बहुत दिनों से प्यासी हूँ, मेरी प्यास बुझा दो क्यूंकि तेरे मौसा तो फ़ौज में रहते हैं, मैं यहाँ अकेली कैसे अपनी प्यास बुझाऊँ।

मेरी तो जैसे इच्छा ही पूरी हो गई, मैंने अपने होंठ उनके होंठों पर रख दिए, दस मिनट चूमने के बाद हम अलग हुए। ऐसा लग रहा था जैसे वो बरसों से प्यासी हों, उनके होंठ बहुत मीठे थे।
फिर मैंने उनकी चूचियों पर हाथ फिराया, वो एकदम से अजीब अजीब आवाज निकल रही थी, बार बार ‘आह उह आईह अम्मह आह्ह’ करने लगी, मुझे मजा आ रहा था।

फिर मैंने उनके सारे कपड़े निकाल दिए, वो एक परी जैसी लग रही थी, उनका शरीर एकदम गोरा था, उनकी चूचियाँ एकदम टाइट थी जो ऊपर की तरफ उठी हुई थी, उनकी चूत गुलाबी रंग की साफ उभरी हुई दिखाई दे रही थी।

मेरी मौसी ने मेरे कपड़े निकाल दिए, मेरा लंड देख कर उनके मुँह में पानी आ गया, वो बोली- आज तो मजा ही आ जाएगा! बहुत दिनों के बाद चुदने का मौका मिलेगा।
यह कहानी आप रियलकहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !

उन्होंने मेरा लंड पकड़ा और हिलाने लगी, मुझे बहुत मजा आ रहा था, उसके बाद उन्होंने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और उसको चूसने लगी।
मैं तो जैसे जन्नत में था।

फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और मैं उनकी चूची को चूसने लगा। वो बार बार ‘आह आउह आह’ कर रही थी।
फिर मैं अपना मुँह उनकी चूत की तरफ ले गया, वहाँ अपनी जीभ को चूत पर न रख कर आस पास फिराने लगा जिससे मौसी को अपनी रियलकहानी पर काबू करना मुश्किल हो गया, उन्होंने अपने हाथ से मेरा सिर पकड़ा और अपनी चूत के ऊपर ले जाकर सिर को दबाया।

मौसी की गुलाबी चूत को चाटने में बहुत मजा आ रहा था, उनकी चूत से नमकीन सा पानी निकल रहा था जो मुझे मजा दे रहा था। मौसी जोर जोर से ‘आह आह आ हह आह आ ह आ आ अह आह अह अह अह ह हश’ बोल रही थी।

फिर मौसी बोली- रोहित, अब काबू नहीं हो रहा, तुम अपना लंड मेरे अंदर डाल दो।
उसके बाद मैंने अपना लंड मौसी की चूत पर रखा, मैंने जैसे ही अपना लंड मौसी की चूत के अंदर डालने की कोशिश की, वो फिसल गया।
मैंने पास में रखी तेल की बोतल से कुछ तेल मौसी की चूत पर लगाया और कुछ अपने लंड पर लगाया फिर मैंने दोबारा कोशिश की।इस बारे कुछ अंदर गया ही था कि मौसी के मुख से जोर से आवाज निकली ‘आ आ आ अ ह्ह ह्ह ह्ह अह अह अह अह आ आ आ अ ह्ह ह्ह ह्ह !

वो जोर से चिल्लाई- बहुत दर्द हो रहा है, इसे बाहर निकालो!
लेकिन मैं नहीं रुका, मैंने कुछ देर मौसी की चूचियों पर हाथ फिराया और एक जोर का झटका मारा और लंड चूत के अंदर चला गया।
बहुत दिनों तक न चुदने के कारण मौसी की चूत टाइट हो गई थी।

मैं बार बार धक्के मार रहा था, फच फच की अवाज से पूरा कमरा गूंज गया।
20 मिनट चुदाई के बाद हम दोनों स्खलित हुए, उस रात मैंने मौसी को दो बार चोदा और उनकी गांड भी मारी।

मुझसे चुदने के बाद सुबह मौसी ने कहा- अगर तुम मुझे नहीं चोदते तो मैं किसी और से अपनी रियलकहानी की प्यास बुझवाती लेकिन तुमने मुझे चोद कर मुझे संतुष्ट कर दिया और मेरी बरसों की प्यास को पूरा किया है।
उन्होंने मुझे अपनी हर चुदाई पर 1000 रुपये दिए और उन्होंने मुझे कॉल बॉय बना दिया।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...